वैरिकोज अल्सर

1 - 2% वयस्कों को पैरों में अल्सर रहता ही है। ज़्यादातर मामलों में पैरों के अल्सर, दीर्घकालीन नसों की बीमारी या वैरिकोज वेंस या नसों में गहरे थ्रोम्बोसिस की वजह से होते हैं। 
पैर के नस का अल्सर नसों के बढ़े हुए प्रसार के कारण या तो सतही नस प्रतिवाह (वैरिकोज वेंस) या गहरे नसों का प्रतिवाह (डीवीटी के परिणाम स्वरुप) की वजह से होता है। 
पैरों के अल्सर के उपचार के लिए लगातार दबाव के साथ सही संपीड़न चिकित्सा ज़रूरी है। पैरों के अल्सर को ठीक होने के लिए ये संपीड़न वाली पट्टी कई हफ़्तों तक ज़रूरी हो सकती है। अगर वेनस अल्सर के मरीज़ को अलग से या वेधनी नस प्रतिवाह के साथ प्रत्यक्ष सतही प्रतिवाह है तो अच्छा परिणाम तब दिखता है जब इन स्थितियों का उपचार होता है जो अल्सर के ठीक होने में भी मदद करता है।
एंडोवेनस लेज़र और फोम स्क्लेरोथेरपी के मिले जुले उपचार, तेज़ी से उपचार को बढ़ावा देता है। .

मामले का अध्ययन #1

45 साल का यह बावर्ची ना ठीक होने वाले अल्सर की वजह से 3 साल से परेशान था। उसमें एक अक्षम सेफनो फेमोरल वाल्व पाया गया था जो भारी अप्राप्यता की ओर अग्रसर था और बड़े सफेनोस नसें फैली हुई थीं। उनकी एड़ियों के ऊपर बहुत सारे वेधनी नसों के वाल्व अक्षम थे। उनको बड़ी सेफनस नसों को बंद करने के लिए एंडोवेनस लेज़र ट्रीटमेंट और अक्षम वेधनी को बंद करने के लिए 3% सोडियम टेट्राडिसाइल सल्फेट का इस्तेमाल करके फोम स्क्लेरोथेरपी करवाना पड़ा। नस के घाव के लिए संपीड़न पट्टी के साथ पलेर्मिन मरहम लगाया गया। नसों का अल्सर दो महीनों मेंपूरी तरह से ठीक हो गया। 18 महीनों के बाद जाँच करने पर पता चला कि फिर से कोई अल्सर नहीं बना।

मामले का अध्ययन #2

एक 42 साल के दुकानदार जिनका काम 15 घंटे लगातार खड़े रहना है, को दाहिने पैर में महत्वपूर्ण सतही वेरकोसाइटिस विकसित हो गया जो अंततः ना ठीक होने वाले अल्सर में परिवर्तित हो गया गुल्फ के बीच वाले भाग में। संपीड़न पट्टी चिकित्सा से कोई फायदा नहीं हुआ। उनको अंततः एंडोवेनस लेज़र चिकित्सा द्वारा फैले हुए और अक्षम बड़ी सेफनोस नसें और साथ में अक्षम वेधनी को बंद करवाना पड़ा। इसके बाद उनको संपीड़न मोज़े (क्लास II) दिए गए और घाव को भरने के लिए पलेर्मिन मरहम लगाने के लिए दिया गया। एक महीने के अंदर अल्सर का पूरा उपचार और उपाय हो गया और साथ में उनका सतही वेरकोसाइटिस भी ख़त्म हो गया। अल्ट्रासाउंड जांच से पुष्टि हुई कि सभी अक्षम वेधनी नसें बंद हो गयी हैं।

मामले का अध्ययन #3

60 साल के दुकानदार जिनके दाहिने पैर में धीरे-धीरे त्वचा की रंजकता विकसित हुई जिसने बाद में अल्सर का रूप ले लिया जो एक साल से कितने उपचारों के बावजूद ठीक नहीं हो रहा था। अंत में पता चला कि उनको अक्षम वेधनी नसों के वाल्व हैं जिसे फिर एंडोवेनस लेज़र और फोम स्क्लेरोथेरेपी को मिलाकर इलाज किया गया। उसके बाद घाव को रोज़ साधारण सेलाइन से साफ़ करके पलेर्मिन मरहम लगाया गया। नीचे दिया गया चित्र घाव में उल्लेखनीय सुधार दिखा रहा है।

मामले का अध्ययन #4

70 साल के इस सज्जन को दाहिने सफेनोफेमोरल वाल्व की घोर अक्षमता और बड़े सफेनोस नस की वेरिकसिटी के साथ वेधनी की अक्षमता होने से दाहिने पैर में बड़ा सा अल्सर हो गया था। यह पिछले 7 महीनों से था और धीरे-धीरे आकार में बढ़ रहा था। अक्षम वाल्व के बंद होने और जीएसवी एवं अक्षम वेधनी नसों के एंडोवेनस लेज़र द्वारा ख़त्म होने के बाद रोज़ पलेर्मिन के साथ ड्रेसिंग करके उनका उपचार हुआ। नीचे दिखाए गए परिणाम दो महीने के अंदर ही उपचार का प्रभाव दिखाने लगे।

मामले का अध्ययन #5

84 साल की यह बूढ़ी औरत जिसको मधुमेह नहीं है लेकिन हाइपरटेंशन है, उनको पिछले तीन सालों से पैर के बीचोंबीच एक बड़ा और न ठीक होने वाला अल्सर था। अल्ट्रासाउंड डोप्पलर जाँच से पता चला कि कोई धमनी की कमी नहीं है लेकिन पैर के मध्य और बाहर में बहुत सारे अक्षम वेधनी हैं। उनको एंडोवेनस लेज़र और फोम स्क्लेरोथेरपी का मिश्रित इलाज दिया गया। रोज़ ऊपर से पलेर्मिन मरहम लगाकर अल्सर को ठीक किया गया। जैसा कि आप देख सकते हैं उनका अल्सर 6 महीने में पूरी तरह से ठीक हो गया।

Varicose Veins India © 2018 | All Rights Reserved

Website Designed 2 Tech Brothers

Drop in your contact details, and we will call you.

Testing

Our working hours are from
9.00 am to 6.00 pm Monday to Friday
9.00 am to 4.00 pm Saturdays