मामलों का अध्ययन

Case Of The Week

55 yrs old female patient Mrs L S , presented with pain , swelling in Right leg & pigmentation of skin in Lower leg since 2 yrs. Venous Doppler study revealed S-F junction incompetence , refluxing GSV , Superficial varicosities & Incompetent perforators. The GSV was ablated using RFA procedure, Superficial varicosities was closed with foam sclerotherapy and incompetent perforators was closed using Laser procedure. The varicosities disappeared within a month.

मामले का अध्ययन

57 साल के एक पुरुष मरीज श्री जी बी, को बाएं पैर में कई साल से दर्द और सूजन था जो धीरे-धीरे बढ़ते हुए पिछले 2 साल से एक न ठीक होने वाले अल्सर में बदल गया। शिरापरक डोपलर अध्ययन से एस-पी जंक्शन अक्षमता,रिफ्लक्सिंग एसएसवी और अक्षमपरफोरेटर का पता चला,जिसका इलाज एन्डोवेनस लेजर और स्क्लेरोथेरपी प्रक्रिया का इस्तेमाल करके किया गया, जिसके बाद घाव पर 4 परत तकमरहम पट्टी की गई। अल्सर एक महीने के भीतर ठीक हो गया।

मामले का अध्ययन

42 साल की एक गृहिणी श्रीमती एस ए,जो रोज 3 से 4 घंटे तक रसोईघर में लगातार खड़ी रहती हैं,जिससे उन्हें पिछले 10-12 साल से (बच्चे को जन्म देने के बाद) दाएं पैर में स्पाइडर वेंस और दर्द की शिकायत थी। शिरापरक डोपलर अध्ययन से, रिफ्लक्सिंग जीएसवी और सुपरफिशियलवेरिकोसिटीका पता चला। फोम स्क्लेरोथेरपी की मदद से जीएसवी और स्पाइडर वेंस का इलाज किया गया। इस इलाज के कारण,वेरिकोसिटी एक महीने के भीतर गायब हो गया और लक्षणों से भी राहत मिल गई।

मामले का अध्ययन

69 साल के एक पुरुष मरीजश्री एल एल, को कई साल से दाएं पैर में दर्द और सूजन की शिकायत थी जो धीरे-धीरे पिछले 1 साल में एक न ठीक होने वाले अल्सर में बदल गया। शिरापरक डोपलर अध्ययन से, एस-एफ जंक्शन अक्षमता, रिफ्लक्सिंगजीएसवी, एसएसवी और सुपरफिशियलवेरिकोसिटी का पता चला, जिसका इलाज एन्डोवेनस लेजर और स्क्लेरोथेरपीप्रक्रिया का इस्तेमाल करके किया गया, जिसके बाद घाव पर नियमित रूप से मरहमपट्टी की गई। अल्सर अच्छी तरह ठीक हो गया और वेरिकोसिटी एक महीने के भीतर गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

27 सालकेपुरूष मरीज श्री वी ओ, जो एक इंजीनियर के रूप में काम कर रहे हैं जिन्हें 8-9 घंटे तक लगातार बैठकर काम करना पड़ता है,उन्हेंबाएं पैर में दर्द, और मध्य पैर में बड़ा सुपरफिशियल वेरिकोसिटी हो गया था। शिरापरक डोपलर अध्ययन से एस-एफ जंक्शन अक्षमता, रिफ्लक्सिंगजीएसवी और सुपरफिशियल वेरिकोसिटी का पता चला। एन्डोवेनस लेजर प्रक्रिया का इस्तेमाल करके जीएसवी को काटकर अलग कर दिया गया। फोम स्क्लेरोथेरपी की मदद से,पीछे की पिंडली में बड़े वेरिकोसिटी का इलाज किया गया। इस इलाज की मदद से, वेरिकोसिटी एक महीने के भीतर गायब हो गया और लक्षणों सेराहत भी मिल गई।

मामले का अध्ययन

53 साल की गृहिणी, श्रीमती आर. जे. को 10 साल से बाएं पैर में दर्द और सूजन थी। उनको पैर में जलन, रात में ऐठन, पैर के बीच वाले हिस्से में बड़ा वेरिकोसिटीज़ था। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ संगम की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चला। जीएसवी को एंडोवेनस लेज़र प्रक्रिया के उपयोग के बाद पृथक किया गया। पीछे की पिंडलियों में बड़े वेरिकोसाइट्स को माइक्रोफ्लेबेक्टॉमी प्रक्रिया की मदद से निकाला गया। इस उपचार की मदद से, लक्षणों से राहत मिलने के साथ-साथ एक महीने के अंदर वेरिकोसाइट्स गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

26 साल के पुरुष मरीज़ श्री एफ. बी, एक इंजीनियर के रूप में काम करते हैं, जिन्हें बहुत ज्यादा परिश्रम करना पड़ता है, उनके दाहिने पैर में दर्द एवं सूजन था और पैर के बीच वाले हिस्से में बड़ा वेरिकोसाइट्स था। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ जंक्शन की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चला। जीएसवी को एंडोवेनस लेज़र प्रक्रिया के उपयोग के बाद पृथक किया गया। पीछे की पिंडलियों में बड़े वेरिकोसाइट्स को माइक्रोफ्लेबेक्टॉमी प्रक्रिया की मदद से निकाला गया। इस उपचार की मदद से, लक्षणों से राहत मिलने के साथ-साथ दो महीने के अंदर वेरिकोसाइट्स गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

46 साल की महिला मरीज़ श्रीमती आर.वी, जिनके व्यवसाय के कारण उन्हें 2 - 3 घंटे खड़े रहना पड़ता था, उनके दाहिने पैर में दर्द होता था और 1 - 2 साल से सूजन एवं त्वचा की रंजकता की समस्या थी। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ जंक्शन की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह एसएसवी, सतही वेरिकोसाइट्स और अक्षम परफोरेटर का पता चला। आरएफए प्रक्रिया का उपयोग कर जीएसवी को निकाल दिया गया और अक्षम परफोरटोरों को लेज़र प्रक्रिया द्वारा बंद किया गया। वेरिकोसाइट्स एक महीने में गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

37 साल की महिला मरीज़ श्रीमती एन बी, दाहिने पैर में दर्द और जांघों के बीच में बड़े वेरिसेस जो उनको एक साल से था और पिछले 6 महीनों में काफी बढ़ गया था, लायी गयीं थी। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, फैली हुई एसएसवी, अक्षम परफोरेटर और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चला था जिन्हें लेज़र और फोम स्क्लेरोथेरपी के मिश्रित उपचार से बंद कर दिया गया था। उन्हें एक महीने के अंदर सम्पूर्ण लक्षणों से राहत मिलने के साथ-साथ अति उत्कृष्ट परिणाम दिखा।

मामले का अध्ययनy

36 साल की पुरुष मरीज़, श्री के एन, 3 - 4 साल से बाएं पैर में दर्द और बीच पैर में बड़े वेरकोसिटिस से वे पीड़ित थे। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ संगम की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह एसएसवी, अक्षम परफोरेटर और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चलता है जिसको लेज़र प्रक्रिया द्वारा बंद कर दिया गया। वेरिकोसाइटिस बिना कोई दाग छोड़े एक महीने के अंदर गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

58 साल के पुरुष मरीज़ श्री के एस को गंभीर वैरिकोज वेंस था कई सालों से और वे धीरे-धीरे ना भरने वाला अल्सर हो गया था सामने पंजों के पास पिछले 2 साल से। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ संगम की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह और अक्षम परफोरेटर का पता चला। एंडोवेनस लेज़र प्रक्रिया द्वारा अल्सर के 4 परत ड्रेसिंग के बाद जीएसवी और अक्षम परफोरेटर को निकाला गया। अल्सर चार हफ्ते में ठीक हो गया।

मामले का अध्ययन

48 साल की गृहिणी, श्रीमती जी एम, को 3 - 4 साल से दाहिने पैर में दर्द और एड़ियों के आस पास के त्वचा की रंजकता की समस्या थी। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ संगम की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चला। एंडोवेनस लेज़र प्रक्रिया और स्क्लेरोथेरपी के मिश्रित उपचार से जीएसवी को निकाला गया। पीछे की पिंडलियों में बड़े वेरिकोसाइट्स को माइक्रोफ्लेबेक्टॉमी प्रक्रिया से निकाला गया। उपचार के बाद वेरकोसाइटिस एक महीने के अंदर गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

29 साल के पुरुष मरीज़, श्री ए. पी, पिछले 5 वर्षों से गंभीर वैरिकोज़ वेंस से पीड़ित थे। उनके बाएं पैर में दर्द था और उनके बाएं मध्य गुल्फ के आसपास की त्वचा की रंजकता की समस्या थी। वेनस डोप्पलर अध्ययन से, एस-एफ संगम की अक्षमता, जीएसवी का प्रतिवाह और सतही वेरिकोसाइट्स का पता चला। जीएसवी को एंडोवेनस लेज़र प्रक्रिया के उपयोग के बाद पृथक किया गया। पीछे की पिंडलियों में बड़े वेरिकोसाइट्स को माइक्रोफ्लेबेक्टॉमी प्रक्रिया से निकाला गया। इस उपचार से लक्षणों से राहत मिलने के साथ-साथ वेरिकोसाइट्स एक महीने के अंदर गायब हो गया।

मामले का अध्ययन

लगातार खड़े रहने के कारण एक वरिष्ठ बैंक अधिकारी के दाहिने पैर में वैरिकोसिटी की समस्या हो गयी। पैरों में दर्द, लम्बे समय तक खड़े या बैठने से, ज़्यादातर शाम के समय पाँव में सूजन के लक्षण। बड़े सेफेनॉस वेंस को बंद करने के लिए लेज़र का इस्तेमाल किया गयाऔर नस के बाहरी भाग को बंद करने के लिए स्क्लेरोथेरपी का इस्तेमाल किया गया। प्रक्रिया के तुरंत बाद फूली हुई नसें पिचक गईं।

मामले का अध्ययन

जहाजघाट पर काम करने वाले 40 साल के व्यक्ति को बाएं पैर के पीछे वैरिकोज वेंस हो गया जिसे अपने काम के लिए लगातार खड़े रहना पड़ता था। एक महीने तक लेज़र उपचार कराने के बाद वैरिकोज नसों के आकार में कमी आना काफी सराहनीय सुधार है।

मामले का अध्ययन

इस 65 साल की गृहिणी को पिछले 40 साल से गंभीर वैरिकोज वेंस की शिकायत थी। खड़े रहने पर पिछले 8 सालों से उनके पैरों और जांघ दोनों में बहुत दर्द रहता था। नीचे दिया गया चित्र उपचार से पहले और बाद में दाहिने पैर और जांघ में बड़े वेरिकोसाइट्स को दिखाया गया है। अंतिम चित्र उपचार के 6 हफ़्तों के बाद का है जिसमें वेरिकोसाइट्स का कोई नामोनिशान नहीं है।

मामले का अध्य्यन

21 साल के इस कॉलेज विद्यार्थी को दाहिने पैर में बड़े वैरिकोज़ वेंस की शिकायत हुई जिसकी वजह से खड़े होने और चलने में दर्द और परेशानी होती थी। बड़े सफेनोस नसों की अक्षमता जुड़ी हुई थी। लेज़र उपचार दिया गया जिससे वैरिकोज वेंस तुरंत टूट गए। दर्द से भी तुरंत राहत मिली।

मामले का अध्य्यन

70 साल के इस आदमी को बाएं पैर में वैरिकोज वेंस की वजह से रात को बहुत ऐंठन होता था। उपचार से ऐंठन में 2 हफ़्तों में ही आराम हो गया।

मामले का अध्ययन

45 साल के इस बावर्ची को अपने काम के दौरान खड़े रहना पड़ता है। लम्बे समय तक खड़े रहने से वैरिकोज वेंस की जटिलता के कारण उन्हें वैरिकोज वेंस अल्सर हो गया जो दो वर्षों तक लगातार ड्रेसिंग करने के बावजूद ठीक नहीं हुआ। उन्होंने अपने अक्षम वेधनी नसों को बंद करवाने के साथ अक्षम नस को लेज़र से बंद करवाया। अगले दो महीनों में उनका अल्सर पूरी तरह से ठीक हो गया।

मामले का अध्य्यन

ये कूरियर वाला लड़का जिसे कई किलोमीटर रोज़ साइकिल चलानी पड़ती है, उसके दोनों पैरों में गंभीर वैरिकोज वेंस था। उसके पास सर्जरी के लिए पैसे नहीं थे और उसके लिए उसको एक महीने तक अपना काम बंद करना पड़ता। उसने लेज़र उपचार का सहारा लिया और 48 घंटों के अंदर काम पर वापस चला गया।

ग्रेट सफेनोस वेंस का वैरिकोज वेंस लेज़र उपचार के मामलों का अध्ययन 

Venous Ulcers - Case Studies

Varicose Veins of Short Saphenous Vein - Case Studies

Lateral Vein of Thigh- Case Studies

जालीदार और मकड़ी नसें

जालीदार और मकड़ी नसों का भी अच्छे से उपचार हो सकता है अगर वे लक्षणात्मक हैं, जो जलन और दर्द को बढ़ाते हैं और अगर वे सौंदर्य संबंधी रुकावट पैदा करते हैं। फीडर नसों को एंडोवेनस लेज़र से और सतही नसों को माइक्रो फोम स्क्लेरोथेरपी से बंद किया गया है। इसमें नसों में एक रसायन (प्रायः पॉलिडोकानोल) का डालना शामिल है जो छोटी वाली गौज सुई से डाला जाता है जिसे फोम बनने के बाद डाला जाता है। ज़्यादातर मरीज़ों को 6 हफ़्तों के अंतराल पर 1 या 2 सत्र की ज़रुरत पड़ती है।

Varicose Veins India © 2018 | All Rights Reserved

Website Designed 2 Tech Brothers

Drop in your contact details, and we will call you.

Testing

Our working hours are from
9.00 am to 6.00 pm Monday to Friday
9.00 am to 4.00 pm Saturdays